कम ब्याज दर: इस योजना के तहत, छात्रों को 10.5% से 12.75% प्रति वर्ष की ब्याज दर पर ऋण मिलता है, जो कि बाजार में अन्य शिक्षा ऋणों की तुलना में कम है।

बिना गारंटी ऋण: 4 लाख रुपये तक का ऋण बिना किसी गारंटी या जमानत के प्राप्त किया जा सकता है। 4 लाख रुपये से अधिक के ऋण के लिए, छात्र को गारंटी देनी होगी।

सब्सिडी: कमजोर वर्ग और पिछड़े वर्ग के छात्रों को ब्याज दर पर सब्सिडी का लाभ मिलता है।

चुकौती में रियायत: छात्रों को अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद 6 महीने की रियायती अवधि मिलती है, जिसके बाद वे ऋण चुकाना शुरू कर सकते हैं।

सह-शिक्षक ऋण: छात्रों के माता-पिता या अभिभावक भी इस योजना के तहत ऋण के लिए सह-आवेदक बन सकते हैं।

विभिन्न बैंकों में उपलब्ध: 38 बैंक इस योजना के तहत ऋण प्रदान करते हैं, जिससे छात्रों को अपनी पसंद का बैंक चुनने की सुविधा मिलती है।

आसान आवेदन प्रक्रिया: छात्र ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।

एकल पोर्टल: छात्र विद्या लक्ष्मी पोर्टल (https://www.vidyalakshmi.co.in/) के माध्यम से विभिन्न बैंकों की ऋण योजनाओं की तुलना कर सकते हैं और एक ही स्थान पर आवेदन कर सकते हैं।